yugnirman.org

ब्लॉग आर्काइव
Donate blood save lives
Donate blood save lives
Our visiters
  • 79343Total visitors:
  • 250Visitors today:
  • 0Visitors currently online:

motivation, mind

(1) स्थिरता (Stability) - ध्यान रहे, हमारी चंचल प्रवृत्तियाँ ही हमारे बौद्धिक विकास (Intellectual development) को रोकती हैं। इस अवरोध को हटाने के लिए आवश्यक है कि तुम धीरे-धीरे ही सही, क्रमिक रुप से निंरतर तीन घण्टे बैठकर पढने का अभ्यास करों। शरीर के स्थिर होने पर मन भी स्थिर होता है। साथ ही बुद्धि (intelligence) भी विकसित होती हैं।

(2) एकाग्रता (Concentration) – इसके लिए जरुरी हैं कि अपने अध्ययन-विषय पर एकाग्र बनो। न समझ में आने के बावजूद उसे पूरी एकाग्रता से समझने की कौशिश करो। निरंतर एकाग्रता का अभ्यास तुम्हारी समझ को अपने आप ही विकसित कर देगा। गायत्री महामंत्र (Gaytri Mahamantra) की नियमित उपासना से स्थिरता एवं एकाग्रता स्वयं ही सध जाती हैं। साथ ही महामंत्र के सुक्ष्म स्पंदन हमारे स्नायु संस्थान (Muscle Institute)की सक्रिय एवं सतेज करते हैं।

(3) जिज्ञासा (Curiosity) – जानने-समझने की जागरुकता।

(4) बुद्धिमानो की संगति – हमें विद्वानो एवं विचारशील (thoughtful) बुद्धिमान जनो से मेल-जोल बढाना चाहिए।

(5) स्वयं को प्रोत्साहन (Self Promotion) – निराशाजनक (Disappointing) विचारों की अपेक्षा स्वयं को प्रोत्साहित करना होगा।

(6) क्रियात्मक उपयोगिता (Peppy utility) – जिन विषयों को हम सीखना चाहते है, उनकी क्रियात्मक उपयोगिता जाने। क्रियात्मक उपयोगिता के बोध (Sense) से चीजें जल्दी समझ में आ जाती हैं।

(7) ज्ञान संचय (Knowledge accumulation) – विभिन्न माध्यमों से जानकारी का संचय करने से भी बौद्धिक विकास होता है।

(8) गहरी दृष्टि (Deep Vision) - अपनी दृष्टि को गहरा करने से इस सत्य का एहसास होगा, समूची प्रकृति (Nature) एवं सारा परिवेश हमें सदा ही कुछ-न-कुछ सिखा रहा है।

(9) विद्यार्थी  भावना (Student spirit) - अपने आप को सदा ही विद्यार्थी मानते हुए नया सीखने के लिए उत्साहित (Upbeat) रहना चाहिए।

(10) दैवी कृपा का अवलंबन (Recourse divine grace) – दैवी कृपा मनुष्य की अपूर्णता को पूर्ण कर उसे सार्थक (Meaningful) बनाती है।

उक्त तथ्य एवं गायत्री तत्व की साधना न केवल बौद्धिक विकास के लिए लाभकारी है, बल्कि यह स्मृति (Memory) को बढाने का अचूक नुस्खा (Surefire recipe) भी हैं।
—————–

PLEASE SHARE THIS POSTFacebook12Twitter0EmailGoogle+0Pinterest0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>